हेलिकॉप्टर द्वारा आग बुझाने का काम शुरू: टिहरी झील से पानी भरकर प्रभावित क्षेत्रों को भरी उड़ान

हेलिकॉप्टर द्वारा आग बुझाने का काम शुरू: टिहरी झील से पानी भरकर प्रभावित क्षेत्रों को भरी उड़ान

गढ़ निनाद समाचार।

नई टिहरी, 5 अप्रैल 2021। उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग बुझाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा भेजे गए एयरफोर्स के  हेलीकॉप्टरों ने आग बुझाने का काम शुरू कर दिया है। एक हैलीकॉप्टर गढ़वाल के गौचर में रहेगा और टिहरी झील से पानी भरेगा। दूसरा हेलीकॉप्टर हल्द्वानी में तैनात रहेगा और भीमताल झील से पानी लेगा। 2016 के बाद यह पहला मौका है जब प्रदेश में वनाग्नि पर काबू पाने के लिए हेलीकॉप्टर का उपयोग किया जा रहा है। पांच साल पहले भी हेलीकॉप्टर से पानी की बौछार कर आग को बुझाने का काम किया गया था।

समाचार लिखे जाने तक एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर ने टिहरी झील से पानी भरकर नरेंद्र नगर रेंज के अदवाणी एवम गजा के जंगलों की आग बुझाने का काम शुरू कर दिया है। एयर फोर्स के ऑपरेशन पर गढ़वाल रेंज के नोडल अधिकारी द्वारा बताया गया कि गढ़वाल क्षेत्र में टिहरी लेक से पानी के दो-तीन चक्कर लगाए जा चुके हैं और उम्मीद है कि 10 से 12 चक्कर तक लग जाएंगे। 

बता दें कि बाल्टी में पानी भरकर हेलीकॉप्टर से उन स्थानों पर गिराया जा रहा है जहां आग ने तांडव मचाया हुआ है। एक बाल्टी की क्षमता लगभग पांच हजार लीटर की है। उत्तराखंड के जंगलों की आग पर काबू पाने के लिए प्रदेश में एयरफोर्स के दो हेलीकॉप्टर लगाए गए हैं। 

एक अनुमान के तहत अक्टूबर 2020 से अब तक प्रदेश में कुल मिलाकर 1360 हेक्टेयर जंगल आग के हवाले हो गए हैं, जिससे अंदाजन 39.46 लाख रुपये का नुकसान हुआ है। बड़ी संख्या में पशु घायल हुए हैं और कई की मौत हो गई है। राहत की खबर यह आ रही है कि वन विभाग ने एक बुलेटिन जारी कर कहा कि पिछले 24 घंटे में आरक्षित वन क्षेत्र में 40 और सिविल वन पंचायत क्षेत्र में आग के पांच मामले सामने आए हैं। 

Please click to share News