जब 7 मुर्दे पहुंचे डी एम के पास पेंशन लेने

Please click to share News


बदायूं – जिलाधिकारी बदायूं के पास जब करौतिया गांव के 7 बुजुर्ग लोग काफी समय से वृद्धावस्था पेंशन न मिलने की शिकायत लेकर गये तो एक बहुत ही अजीब सा मामला सामने आया है। यहां के 7 बुजुर्ग व्यक्ति, जो कि ज़िंदा हैं उन्हें मृत घोषित कर दिया गया है। हैरानी वाली बात तो ये है कि इन लोगों को खुद इसके बारे पता नहीं था। इनको वृद्धावस्था पेंशन मिलती है। ये लोग अपनी पेंशन के पैसे निकालने बैंक गए, तब उन्हें पता चला कि उनके अकाउंट में तो पैसे आए ही नहीं हैं। समाज कल्याण विभाग इनकी पेंशन भेजता था। लेकिन इस बार उनके पैसे विभाग की तरफ से बैंक अकाउंट में नहीं भेजे गए। फिर ये सातों लोग गांव के पूर्व प्रधान शंहशाह आलम के पास गए। आलम ने जब पता किया, तो ये सामने आया कि कागज़ों में ये सातों लोग मृत घोषित किए जा चुके हैं। ग्राम पंचायत सचिव की लापरवाही की वजह से ऐसा हुआ है। फिर आलम इन सातों बुजुर्ग व्यक्तियों को लेकर डीएम दिनेश कुमार सिंह के पास पहुंचे। डीएम ने कहा कि वो जांच कराएंगे। समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों से भी पूछताछ करेंगे।.उन्होंने ग्राम पंचायत सचिव पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दे दिए हैं। साथ ही ये भी कहा कि जो भी गड़बड़ी हुई है, उसे सुधारा जाएगा और इन सातों लोगों को इनकी पेंशन दोबारा मिलेगी।


Please click to share News
admin

admin

Related News Stories