पंचायत चुनाव: भाजपा व कांग्रेस को अब निर्दल का सहारा

पंचायत चुनाव: भाजपा व कांग्रेस को अब निर्दल का सहारा
Please click to share News


पंचायत चुनाव: भाजपा व कांग्रेस को अब निर्दल का सहारा

गोविन्द पुण्डीर

देहरादून/नई टिहरी * गढ़ निनाद। 

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना में राज्य निर्वाचन आयोग लगभग 80 फीशदी परिणाम घोषित कर पाया,जबकि कुछ स्थानों पर देर रात से मतगणना जारी है। अधिकतर जिलों में निर्दलीयों का दबदबा तो भाजपा को झटका लगा है,कांग्रेस ने भी कुछ सीटों पर कब्जा किया है। उत्तराखंड में 1515 पदों पर ग्राम प्रधान निर्विरोध पहले ही निर्वाचित हुए हैं। सदस्य क्षेत्र पंचायतों के 2984 पदों में से 299 निर्विरोध निर्वाचित हुए। 10 पद रिक्त हैं। बाकी के बचे 2675 पदों में से 1592 पदों पर ही परिणाम घोषित हो पाए थे। जिला पंचायत सदस्य पदों के 356 पदों में से नौ निर्विरोध निर्वाचित हुए। 60 पर ही परिणाम घोषित हो पाए।

टिहरी जिले के सभी परिणाम प्राप्त: मतगणना समाप्त

प्रभारी कंट्रोल रूम,त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव 2019 से प्राप्त जानकारी के अनुसार टिहरी जनपद में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के सभी परिणाम आज 22 अक्टूबर की  सुबह साढ़े सात बजे तक प्राप्त हो गए हैं।

टिहरी जनपद में जिला पंचायत सदस्य की 45 सीटें में से 42 के परिणाम आ चुके हैं। शेष तीन पहले ही निर्विरोध चुने गए थे। इनमें 2 भाजपा व एक कांग्रेस प्रत्याशी शामिल है। 

टिहरी गढ़वाल में क्षेत्र पंचायत की 351 में से 318 के परिणाम आ चुके हैं। जिले के 1035 ग्राम प्रधानों में से 734 के परिणाम घोषित हो चुके हैं। 293 प्रधान पहले ही निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं, शेष 8 पर किन्ही कारणों से चुनाव नहीं हुए। भिलंगना ब्लॉक के सीमांत गांव मेड में प्रधान पद पर मामला टाई हो गया था। वहां पर दोनों प्रताशियों को 179-179 वोट पड़े। जिसके बाद चुनाव अधिकारी उप जिलाधिकारी पीआर चैहान की ओर से पर्ची डाल कर विजयी प्रत्याशी की घोषणा की गई। पर्ची में सुषमा देवी विजय रही।

विकास खण्ड देवप्रयाग की नगर ग्राम सभा में प्रधान के लिए 2 महिला प्रत्याशी मैदान में थीं। इनमें एक प्रत्याशी के चुनाव निशान पर मोहर के बजाय अंगूठे के निशान के कारण दोनों मतों को अवैध करार दिया गया जिससे वह मात्र 2 वोट से ही हार गई।

देहरादून जिले की थानों जिला पंचायत सीट से कांग्रेस के अश्वनी बहुगुणा निर्वाचित हुए। डोईवाला विकासखंड के अंतर्गत जोगीवाला माफी ग्रामसभा सभा में सोवन सिंह कैंतूरा प्रधान, चक जोगीवाला में भगवान सिंह मेहर प्रधान चुने गए। वहीं, पंचायत चुनाव में देहरादून के रायपुर ब्लॉक के क्षेत्र पंचायत सदस्यों की 4 सीटों पर परिणाम घोषित हो गए हैं। 

चमोली- 26 में से तीन के परिणाम घोषित हुए थे। एक भाजपा, एक कांग्रेस और एक निर्दलीय।  

कांग्रेस को चमोली में सहारा मिला। यहां पूर्व मंत्री राजेंद्र भंडारी की पत्नी रजनी भंडारी जिला पंचायत सदस्य पद पर जीत गईं। रजनी जिला पंचायत अध्यक्ष पद की दावेदार भी हैं। भाजपा को दूसरी ओर कुमाऊं में झटका लगा। पिथौरागढ़ में भाजपा के पूर्व मंत्री बिशन सिंह चुफाल की बेटी दीपिका चुफाल चुनाव हार गई।  

कुमाऊं में जिला पंचायत सदस्य पद के नतीजे

पौड़ी – 14 सीटों पर परिणाम घोषित हो पाए थे, इसमें से पांच ही भाजपा के खाते में आईं।

उत्तरकाशी – 25 सीटों पर परिणाम घोषित हो पाए थे। इसमें 17 में से दो पर ही भाजपा के समर्थित प्रत्याशी जीत पाए।

रुद्रप्रयाग जिला पंचायत सदस्यों के 18 में से 11 परिणाम घोषित। आठ सीटें यहां निर्दलियों के खाते में गईं। रुद्रप्रयाग जनपद में अब तक 28 प्रधान के परिणाम घोषित। जिला पंचायत सदस्य के लिए कंडारा सीट सै निर्दलीय सुमन नेगी ने भाजपा के आधिकृत प्रत्याशी को हराया। 

उत्तरकाशी के गैर मुगरसंती में अनीता,भाटिया में राकेश कुमार,फूलधार में पवन कुमार ,बसराली में अनिल सिंह,पिपली मंजकोट में मुन्नी देवी, झाला में सुरजा देवी

पिथौरागढ़ के डीडीहाट विधायक एवं भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष बिशन सिंह चुफाल की बेटी दीपिका चुफाल चिटगालगांव सीट से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव हार गईं। वंशीधर भट्ट ने दीपिका को 1299 मतों से पराजित किया। वंशीधर भट्ट को 3389 मत जबकि दीपिका को 2090 मत मिले। चुफाल की बेटी के इस सीट से चुनाव मैदान में होने से इस हॉट सीट पर शुरू से सबकी नजर थी। तमाम प्रयासों के बावजूद भाजपा के हाथ से यह सीट निकल गई। भाजपा के बागी होकर सरमोली जिला पंचायत सीट से मैदान में उतरे जगत मर्तोलिया ने चुनाव जीता।

पिथौरागढ़ के गंगोलीहाट में क्षेत्र पंचायत सदस्य के तीन परिणाम घोषित हुए। चिटगल से चन्द्रशेखर पंत, उपराडा से जितेंद्र सिंह और पाली से पूजा देवी विजयी रहे। पाली ग्राम पंचायत में ग्राम प्रधान पद पर बराबर मत मिलने से टॉस किया गया। यहां पुष्पा देवी और नीरू देवी को 120- 120 मत मिले। टॉस में पुष्पा देवी जीती।पिथौरागढ़ में कुल 27 सीटों में 12 पर भाजपा के समर्थित प्रत्याशी जीते। 15 में भाजपा को हार का मुंह देखना पड़ा। यहां विधानसभा उपचुनाव भी होने हैं। ऐसे में भाजपा के सामने यहां संकट खड़ा हो सकता है।

बागेश्वर जिले के विकासखंड कपकोट में ग्राम प्रधानो के परिणाम घोषित हो गए हैं। लाथी से लछी राम, भनार से भूपाल राम, डोला से महेश सिंह विजय हुए। इसके साथ ही 23 क्षेत्र पंचायत सदस्यों का परिणाम भी आ गया है। ग्राम सभा जल्थाकोट से ममता देवी, स्यालडोबा से कृष्णा कुमार, बांज झिरोटी से अंजू देवी, मिथुनकोट से हरीश चंद्र चंदोला, भदौरा से गोविन्दी देवी, ठांगा से गीता साहनी, भेंटा से उमेश, नारायण गुंठ से शेखर चंद्र पांडेय, कुनेडा से उषा पांडेय, कंडेकन्याल से प्रेमा कांडपाल, मुस्योली  से भगवान सिंह, ढुंगा से देवेंद्र सिंह, बजीना से तारा देवी, कंडे से बसंत सिंह पंगचैडा से मुन्नी देवी विजय हुये। विकास खंड गरुड़ के क्षेत्र पंचायत चैरसो से बबिता देवी विजय घोषित। लखनी से रमेश चंद्र मिश्रा, मेलाडुगरी से नीमा, कपकोट में ग्राम प्रधानों में दोबाड से प्रेमा, वाछम से मालती देबी, सोराग से गीता देबी, तीख से कुवर सिंह विजय हुए।

उधमसिंह नगर जिले के रुदपुर के शांतिपुरी नंबर 1 से प्रधान पद पर कैलाश जोशी, शांतिपुरी नंबर 2 से चंद्रकला कोरंगा, शांतिपुरी 3 व 4 से राहुल तिवारी, जवाहर नगर से दीपा कांडपाल, गडरिया बाग से गीता देवी प्रधान पद पर जीतीं। 35 पदों पर चुनाव हुआ। देर शाम तक पांच पदों का रिजल्ट घोषित। इनमें खटीमा में दो सीटें भाजपा समर्थित और एक पर निर्दलीय विजयी हुआ। सितारगंज में दो सीटों पर निर्दलियों ने बाजी मारी।

रानीखेत की दुगौड़ा ग्राम पंचायत के ग्राम प्रधान पद पर दीपा देवी, चैकुनी में मनोज सिंह, मौना में रेखा बिष्ट, बिष्ट कोटली से निशा, मंगचैड़ा से कोमल तथा रतगल से भगवती देवी ने ग्राम प्रधान पद पर कब्जा जमा लिया है।  बिष्ट कोटली ग्राम पंचायत में विजयी उम्मीदवार निशा महज पांच मतों से विजयी हुई है। 

द्वाराहाट की कफड़ा न्याय पंचायत के छबीसा गांव से दिनेश कुमार, कफड़ा से दिनेश चंद्र कबडवाल, सैली सुनोली से इंद्र सिंह, बनोली से प्रशांत सिंह, तैली सुनोली से हेमा बिष्ट, सतीनौगांव से भावना सती, बड़ेत से रेखा बिष्ट, मासर से हेमा देवी प्रधान चुने गए। बड़ेत गांव में रेखा ने मंजू को तथा बनोली गांव में प्रशांत ने दीवान सिंह को एक-एक मत से पराजित किया।

अल्मोड़ा जिले के स्यालदे (रानीखेत) की  चिंतौली गांव में कलावती देवी ने ग्राम प्रधान पद पर कब्जा जमा लिया है। वहीं, कफलगैर गांव पर कैलाश आर्या ने जीत दर्ज की है। 

चंपावत जिले के लोहाघाट ब्लॉक में नेपाल सीमा से लगे मल्ला हाईकोर्ट ग्राम प्रधान पद के लिए गंगा देवी को 176 मत पड़े, जबकि उनके प्रतिद्वंदी को रेखा कार्की को 170 मत पड़े। 

नैनीताल 27 में से 26 पदों पर चुनाव हुआ। एक निर्विरोध चुना गया। देर शाम तक 10 के  परिणाम घोषित। इनमें भाजपा का एक और 9 निर्दलीय हैं। 

बहरहाल त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अब तक के ताजा परिणामों को लेकर भाजपा और कांग्रेस, दोनों ने ही अपनी-अपनी जीत का दावा किया। शुरुआती दौर के परिणाम से यह भी संकेत मिले हैं कि जिला पंचायतों में बोर्ड गठन को लेकर दोनों ही प्रमुख दलों में खींच तान शुरू हो गई है।अब निर्दलीय ही इनकी नैया पार लगा सकते हैं।


Please click to share News
admin

admin

Related News Stories