पांडुलिपियों के संरक्षण पर आयोजित कार्यशाला संपन्न

पांडुलिपियों के संरक्षण पर आयोजित कार्यशाला संपन्न
Please click to share News


पांडुलिपियों के संरक्षण पर आयोजित कार्यशाला में पुराना दरबार ट्रस्ट की ओर से संकलित कई पांडुलिपियों का प्रदर्शन

नई टिहरी*गढ़ निनाद।

श्रीदेव सुमन विश्व विद्यालय बादशाहीथौल में राष्ट्रीय पांडुलिपि मिशन और पुराना दरबार ट्रस्ट के संयुक्त प्रयास से पांडुलिपियों के संरक्षण पर चार दिनों तक कार्यशाला आयोजित की गई।

कार्यशाला में पुराना दरबार ट्रस्ट की ओर से संकलित कई पांडुलिपियों का अनूठा प्रदर्शन किया गया। कार्यशाला में बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों ने शिरकत की।  बुद्धिजीवीयों ने पांडुलिपियों के संरक्षण कार्यशाला की पहल को बहुत ही ज्ञानवर्धक बताया। राष्ट्रीय पांडुलिपि मिशन और पुराना दरबार ट्रस्ट के संयुक्त प्रयास से पांडुलिपियों के संरक्षण पर आयोजित कार्यशाला में पुराना दरबार ट्रस्ट की ओर से संकलित कई पांडुलिपियों का प्रदर्शन किया गया।

कार्यशाला के चौथे जहां दिन पुराना दरबार ट्रस्ट और रुद्रप्रयाग के सत्येंद्र बर्तवाल और धीरेंद्र वर्तवाल ने अपनी कई पीढ़ियों द्वारा संकलित पांडुलिपियां दिखाई वहीं राजकीय महाविद्यालय बड़कोट के प्राध्यापक डा. विजय बहुगुणा ने रवाईं घाटी में पांडुलिपियों पर किए गए अपने नए शोध कार्य पर प्रस्तुतिकरण दिया।

कार्यशाला का सफल संचालन वरिष्ठ पत्रकार एवम रंगकर्मी महीपाल सिंह नेगी ने किया। नेगी ने  टिहरी की पांडुलिपियों पर बेहतरीन प्रस्तुतिकरण दिया। इस मौके पर डा. कृति श्रीवास्तव, पुराना दरबार ट्रस्ट के भवानी प्रताप सिंह, डा. योगंबर बार्तवाल, सुशील बहुगुणा, डा. सुरेंद्र सेमल्टी, राजेंद्र बहुगुणा, जोशी लेखाकार, पांडुलिपी मिशन के शोधार्थी अमित चमोली, विनोद जोशी, डा. मनिकांत शाह आदि मौजूद रहे।


Please click to share News
admin

admin

Related News Stories