उत्तराखंडः प्रदेश में अब अपराधियों की खैर नहीं- गैंगस्टर एक्ट में तुरंत कार्यवाही

उत्तराखंडः प्रदेश में अब अपराधियों की खैर नहीं- गैंगस्टर एक्ट में तुरंत कार्यवाही
DGP-Law & Order-Ashok-Kumar
Please click to share News


अपराधियों पर प्रभावी कार्यवाही और अपराध नियंत्रण के लिए विशेष अभियान: डी जी अशोक कुमार

प्रदेश में अपराध एवं अपराधियों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही करने और अपराध नियंत्रण हेतु श्री अशोक कुमार, महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था ने आदेश दिया। प्रदेश में सक्रिय गैंगों, वांछित अपराधियों, ईनामी अपराधियों, संगठित अपराधियों के विरूद्ध गैंगस्टर एक्ट में कार्यवाही की जाएगी। महत्वपूर्ण स्थानों पर सीसीटीवी कैमरों की मदद से विशेष अभियान 1 नवम्बर 2019 से  चलाया जा जायेगा। 

इस विशेष अभियान की 15 दिसम्बर 2019 तक की कार्यवाही की श्री अशोक कुमार ने स्वयं समीक्षा की। प्रदेश में रजिस्टर्ड 42 गैंग हैं। समीक्षा पता चला कि इन सक्रिय गैंगों के कुल 330 सदस्यों में से 56 सदस्यों की मृत्यु हो चुकी है, 130 सदस्य सक्रिय और 144 सदस्य शान्त हैं। इनमें से 75 गैंग सदस्य जेलों में हैं और शेष के विरूद्ध जांच कर न्यायिक कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए है। 

07 गैंगों को लिस्ट से हटा गया और 52 सदस्यों की निगरानी भी बन्द कर दी गई है। इसके साथ ही नये गैंगों को भी रजिस्टर्ड करने की कार्यवाही की जा रही है।

अभियान के अन्तर्गत अलग-अलग आरोपों में वांछित अपराधियों के विरूद्ध कार्यवाही करते हुए 8390 अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। 38 के विरूद्ध कुर्की की कार्यवाही की गई है और 51 पर ईनाम घोषित कर दिया गया है। शेष के विरूद्ध भी गिरफ्तारी पर ईनाम घोषित करने हेतु निर्देशित किया गया है।

अभियान के अन्तर्गत इस अवधि में कुल 34 ईनामी अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें 28 पर 2,500 रूपये तक का ईनाम, 03 पर 5,000 रूपये का ईनाम और 03 पर 10,000 रूपये का ईनाम घोषित था।

वर्ष 2015 से अभी तक संगठित अपराध करने यथा-भूमाफिया, भारी मात्रा में शराब की तस्करी करने वाले, मादक पदार्थों की तस्करी में शामिल अपराधियों के विरूद्ध गैंगस्टर एक्ट की कार्यवाही की जा रही है। अभी तक 32 गैंगस्टर के अभियोगों में 99 के विरूद्ध गैंगस्टर एक्ट के अन्तर्गत कार्यवाही की जा चुकी है। शेष के विरूद्ध शीघ्र प्रचलित कार्यवाही को पूर्ण करने हेतु निर्देशित किया गया है।

अभियान में प्रयास किया गया है कि प्रत्येक थाना क्षेत्र को शत-प्रतिशत सीसीटीवी कैमरों से कवर कर लिया जाए, ताकि अपराध और अपराधियों पर नियंत्रण लगाया जा सके और अपराध को शॉट आउट करने में आसानी हो। अभियान के अन्तर्गत अभी तक जन-सहयोग और सरकार के प्रयासों से कुल 1,207 सीसीटीवी कैमरे लगाये जा चुके हैं। शेष बचे महत्वपूर्ण स्थानों पर भी सीसीटीवी कैमरे लगाये जाने की प्रक्रिया प्रचलित है।

श्री अशोक कुमार ने बताया कि इस विशेष अभियान को और सफल बनाने हेतु इसे 31 जनवरी 2020 तक चलाया जाएगा।


Please click to share News
admin

admin

Related News Stories