बड़ी खबर: हिमस्खलन की चपेट में आने से 10 पर्वतारोही लापता सेना और NIM जुटी राहत-बचाव कार्य में

बड़ी खबर:  हिमस्खलन की चपेट में आने से 10 पर्वतारोही लापता सेना और NIM जुटी राहत-बचाव कार्य में
Please click to share News


चमोली। माउंट त्रिशूल के आरोहण के लिए गया नौसेना का 20 सदस्यीय दल हिमस्खलन की चपेट में आ गया है। जिससे दल के 10 सदस्य लापता बताए जा रहे हैं। माउंट त्रिशूल के आरोहण के दौरान हिमस्खलन आने से यह हादसा हुआ है। 

बता दें कि नौसेना का 20 सदस्यीय दल करीब 15 दिन पहले 7,120 मीटर ऊंची त्रिशूल चोटी के आरोहण के लिए गया था। शुक्रवार सुबह दल आगे बढ़ा तो हिमस्खलन की चपेट में आ गया।

सेना क़ा हेलीकाप्टर भी खोजबीन मे जुट गया है। भारतीय नौसेना का कहना है कि हिमस्खलन में लापता पर्वतारोही और एक पोर्टर की खोज के लिए राहत-बचाव अभियान शुरू कर दिया गया है। अभियान में सेना, वायुसेना और राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल का बचाव दल और हेलीकॉप्टर शामिल है।

उत्तरकाशी से हेली के जरिये निम की सर्च एंड रेस्क्यू टीम रवाना हुई है। इस संबंध में NIM के प्रिंसिपल अमित बिष्ट ने बताया यह घटना शुक्रवार सुबह पांच बजे के करीब हुई है। जिसमें करीब 10 वायु सेना के पर्वतारोही हिमस्खलन की चपेट में आए हैं और मिसिंग चल रहे हैं। समाचार लिखे जाने तक खोजबीन जारी है।

तीन चोटियों का समूह है त्रिशूल

माउंट त्रिशूल चमोली जनपद की सीमा पर स्थित कुमाऊं के बागेश्वर जनपद में है। तीन चोटियों का समूह होने के कारण इसे त्रिशूल कहते हैं। इस चोटी के आरोहण के लिए चमोली जनपद के जोशीमठ और घाट से पर्वतारोही टीमें जाती हैं।


Please click to share News
Govind Pundir

Govind Pundir