19 नवंबर को लगेगा सदी का सबसे लंबा आंशिक चंद्रग्रहण, 6 राशियों की लगेगी लाटरी

19 नवंबर को लगेगा सदी का सबसे लंबा आंशिक चंद्रग्रहण, 6 राशियों की लगेगी लाटरी
Please click to share News


वर्ष 2021 का अंतिम चंद्रग्रहण और इस सदी का सबसे लंबा आंशिक चंद्रग्रहण 19 नवंबर शुक्रवार के दिन लगेगा

ऋषिकेश। उत्तराखंड ज्योतिष रत्न आचार्य डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल ज्योतिषीय गणना करते हुए बताते हैं कि यद्यपि यह आंशिक चंद्रग्रहण है परंतु इस सदी का सबसे लंबा चंद्रग्रहण है जो 19 नवंबर को सुबह लगेगा और दोपहर में समाप्त हो जाएगा क्योंकि पूर्णमासी तिथि 18 नवंबर को 12:30 से लग रही है जो 19 नवंबर को दोपहर 2:35 पर समाप्त हो जाएगी।

ज्योतिष में अंतरराष्ट्रीय हस्ताक्षर आचार्य चंडी प्रसाद घिल्डियाल सौरमंडल की गणना करके बता रहे हैं कि यह चंद्र ग्रहण भारतवर्ष के असम और अरुणाचल प्रदेश में ही दिखाई देगा अन्य हिस्सों में नहीं दिखाई देगा तथा एशिया महाद्वीप प्रशांत महासागर अमेरिका और इंडोनेशिया में विशेष रूप से प्रभावी रहेगा परंतु चंद्रग्रहण चाहे आंशिक हो फिर भी उसका असर भूमंडल पर पूरा ही रहता है यद्यपि आंशिक ग्रहण का सूतक पातक असर नहीं के बराबर होता है।

श्रीमद् भागवत व्यास पीठ पर आसीन होने वाले आचार्य चंडी प्रसाद बताते हैं कि 12 में से 6 राशियां ऐसी हैं जिनके लिए यह चंद्र ग्रहण बहुत लाभदायक साबित होगा क्योंकि यह चंद्रग्रहण वृषभ राशि और कृतिका नक्षत्र पर घटित हो रहा है इसलिए इस राशि के लिए नुकसानदेह है परंतु मेष कर्क कन्या वृश्चिक मकर और मीन राशि के लिए वरदान साबित होगा सब तरफ से खुशियां प्राप्त होंगी प्रमोशन और व्यापार में वृद्धि संतान प्राप्ति के योग इस राशि के जातकों के लिए बनेंगे।

मंत्रों की ध्वनि को यंत्रों में परिवर्तित करने का विज्ञान विकसित करने की वजह से ज्योतिष वैज्ञानिक उपाधि से सम्मानित डॉक्टर घिल्डियाल बताते हैं कि 18 तारीख की रात्रि मंत्र सिद्धि और यंत्र सिद्धि के लिए बहुत शुभ है। वृषभ मिथुन सिंह तुला धनु और कुंभ राशि के जातक रोग से पीड़ित हो सकते हैं, धन हानि संतान को कष्ट व्यापार में हानि भूमि भवन संबंधी नुकसान भी हो सकता है इसलिए सावधानी रखें। 

उन्होंने बताया किस ग्रहण के प्रभाव से देश में भूकंप आगजनी सड़क दुर्घटनाओं के योग बन रहे हैं प्रदेश और देश की सरकारों को सावधान रहना चाहिए।

स्मरणीय है कि उत्तराखंड ज्योतिष रत्न आचार्य डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल की भविष्यवाणियां लगभग सटीक साबित होती है।

आचार्य का परिचय
नाम-आचार्य डॉक्टर चंडी प्रसाद घिल्डियाल
पब्लिक सर्विस कमीशन उत्तराखंड से चयनित प्रवक्ता संस्कृत।
निवास स्थान- 56 / 1 धर्मपुर देहरादून, उत्तराखंड। कैंप कार्यालय मकान नंबर सी 800 आईडीपीएल कॉलोनी वीरभद्र ऋषिकेश
मोबाइल नंबर-9411153845

उपलब्धियां
वर्ष 2015 में शिक्षा विभाग में प्रथम गवर्नर अवार्ड से सम्मानित वर्ष 2016 में लगातार सटीक भविष्यवाणियां करने पर उत्तराखंड के तत्कालीन मुख्यमंत्री हरीश रावत ने उत्तराखंड ज्योतिष रत्न सम्मान से सम्मानित किया वर्ष 2017 में त्रिवेंद्र सरकार ने दिया ज्योतिष विभूषण सम्मान। वर्ष 2013 में केदारनाथ आपदा की सबसे पहले भविष्यवाणी की थी। इसलिए 2015 से 2018 तक लगातार एक्सीलेंस अवार्ड प्राप्त हुआ शिक्षा एवं ज्योतिष क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्यों के लिए 5 सितंबर 2020 को प्रथम वर्चुअल टीचर्स राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त किया। मंत्रों की ध्वनि को यंत्रों में परिवर्तित कर लोगों की समस्त समस्याओं का हल करने की वजह से वर्ष 2019 में अमर उजाला की ओर से आयोजित ज्योतिष महासम्मेलन में ग्राफिक एरा में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दिया ज्योतिष वैज्ञानिक सम्मान।


Please click to share News
Govind Pundir

Govind Pundir