उत्तराखंड राज्य स्तरीय विज्ञान, गणित एवं पर्यावरण महोत्सव की उपलब्धियाँ

उत्तराखंड राज्य स्तरीय विज्ञान, गणित एवं पर्यावरण महोत्सव की उपलब्धियाँ
Achievements of Uttarakhand State Level Science, Mathematics and Environment Festival
Please click to share News


  • महोत्सव में जिला स्तर से चयनित 494 बाल-वैज्ञानिक ने हिस्सा लिया

टिहरी * गढ़ निनाद ब्यूरो, 30 नवंबर 2019

उत्तराखंड राज्य स्तरीय डॉ0 एपीजे अब्दुल कलाम राज्य विज्ञान, गणित एवं पर्यावरण महोत्सव-2019 के दूसरे दिन प्रदेश के सभी 13 जनपदों के 494 छात्र-छात्राओं ने अपने विभिन्न विषयों पर आधारित मॉडलों के माध्यम से अपनी वैज्ञानिक सोच का परिचय दिया।

बृहस्पतिवार को आयोजित महोत्सव के दूसरे दिन का शुभारंभ प्रदीप रावत, संयुक्त निदेशक एससीईआरटी के ने  विज्ञान महोत्सव के निर्णायकों का बैच अलंकरण कर स्वागत किया। 

विज्ञान प्रदर्शनी का अवलोकन 

निर्णायकों ने सीनियर वर्ग के विज्ञान, गणित एवं पर्यावरण से संबंधित विभिन्न मॉडलों का अवलोकन किया। प्रतिभागियों से अपने-अपने मॉडलों से संबंधित इनोवेशन की जानकारी दी। विज्ञान प्रदर्शनी में स्मार्ट रूम, सतत विकास के लिए विज्ञान प्रौद्योगिकी, सूचना प्रौद्योगिकी, भावी परिवहन एवं संचार, गणितीय घड़ियों से खेल-खेल में सवालों का हल, गणितीय संक्रियाओं का प्रदर्शन, जल संरक्षण, वायु प्रदूषण, आधार कार्ड युक्त ईवीएम मशीन इत्यादि मॉडल शामिल थे; मॉडलों के सद्वारा बाल वैज्ञानिकों के द्वारा दी गयी जानकारी से निर्णायक काफी प्रभावित हुए, साथ ही मॉडलों ने अन्य उपस्थित छात्र-छात्राओं को भी अपनी ओर आकर्षित किया।

विभिन्न मॉडलों में बिच्छू घास का उपयोग, मोबाइल से घर में बिजली के उपकरण संचालित करना, डिजिटल तकनीकी से गृह सुरक्षा, बाढ़ के समय घरों को हाइड्रोलिक सिस्टम से ऊपर उठाना आदि मॉडल आकर्षण का केंद्र रहे।

देश को मिलेगा बाल वैज्ञानिकों के शोध, विज्ञान ड्रामा और प्रोजेक्टों का लाभ: प्रदीप रावत

डॉ0 एपीजे अब्दुल कलाम राज्य स्तरीय विज्ञान, गणित एवं पर्यावरण महोत्सव के तीसरे दिन का शुभारंभ एससीईआरटी के अपर निदेशक अजय कुमार नौडियाल, संयुक्त निदेशक प्रदीप रावत, उप निदेशक राय सिंह रावत, मुख्य शिक्षा अधिकारी पौड़ी मदन सिंह रावत ने बाल वैज्ञानिकों की उपस्थिति में संयुक्त रूप से किया।

इस मौके पर संयुक्त निदेशक प्रदीप रावत ने कहा कि बाल वैज्ञानिकों के शोध, विज्ञान ड्रामा, मॉडल और प्रोजेक्टों का लाभ समाज और देश को मिलेगा।

तीसरे दिन शुक्रवार को जीआईसी कोटद्वार में आयोजित विज्ञान महोत्सव में जूनियर वर्ग में कृषि वानिकी, रोलिंग बेरियर, लाई-फाई, अर्थ एंड स्पेस साइंस, इंजीनियरिंग, मिनी फार्मर, एसटीईसी स्मार्ट सिटी एंड स्मार्ट विलेज, हस्त कौशल एवं व्यवसाय, औषधीय कृषि वातावरण विज्ञान, मेगलीव ट्रेन, वेक्यूम रोबोट, सॉलर हेलमेट आदि के मॉडलों का प्रदर्शन किया। 

एससीईआरटी और बाहर से आमंत्रित निर्णायकों ने छात्रों की ओर से प्रस्तुत मॉडलों का बारीकी से निरीक्षण किया। उन्होंने छात्रों के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि सीमित संसाधनों के बावजूद बच्चे अपनी अनोखी प्रतिभा को दर्शा रहे हैं, इसका लाभ भविष्य में देश, दुनिया और समाज को अवश्य ही मिलेगा। डॉ0 विजय मैठानी और डा. स्मिता बड़ोला ने दैनिक जीवन में विज्ञान, अजीम प्रेम जी फाउंडेशन के डॉ0 दीपक रावत ने तत्वों की आवर्त सारिणी, अमेरिका से आए उत्तराखंड के वैज्ञानिक डॉ0 विनीत ध्यानी ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस विषय पर व्याख्यान दिए।

विज्ञान ड्रामा में जीआईसी कंवाएटहाली उत्तरकाशी की टीम प्रथम 

महोत्सव में सीनियर वर्ग विज्ञान प्रदर्शनी प्रतिस्पर्धा में कृषि पद्धतियां केटेगरी में जीजीआईसी द्वाराहाट की मनीषा आर्या, स्वच्छता एवं स्वास्थ्य केटेगरी में जीआईसी सेंधीखाल की अनामिका, संसाधन प्रबंधन केटेगरी में जीआईसी सेंधीखाल की निकिता,औद्योगिक विकास केटेगरी में जीआईसी सरमोली चमोली की प्रिया बुटोला, भावी परिवहन और संचार केटेगरी में जीआईसी कवांएटहाली उत्तरकाशी की आरती पंवार, शैक्षिक खेल तथा गणितीय प्रतिरूपण केटेगरी  में जीआईसी कोटाबाग नैृनीताल के धीरज शर्मा ने प्रथम रहे।

विशेषज्ञ निर्णायकों के अवलोकन के आधार पर विज्ञान प्रदर्शनी के जूनियर वर्ग में सतत कृषि पद्धतियां केटेगरी में जीआईसी नौगांव खाल पौड़ी के आयुष पांथरी प्रथम रहे। स्वच्छता एवं स्वास्थ्य केटेगरी में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय डांगी रुद्रप्रयाग की आंचल, संसाधन प्रबंधन केटेगरी में जीआईसी अमस्यारी बागेश्वर के प्रमोद परिहार, औद्योगिक विकास केटेगरी में जीआईसी बानना नैनीताल के हिमांशु पलड़िया, भावी परिवहन और संचार केटेगरी में जीआईसी सेंधीखाल के शिवा भारद्वाज, शैक्षिक खेल तथा गणितीय प्रतिरूपण केटेगरी में जीआईसी सेंधीखाल के आदित्य ने प्रथम प्राप्त किया।

विज्ञान, प्रौद्योगिकी और अभियांत्रिकी विषय पर व्यक्तिगत प्रोजक्ट में जीआईसी बैसोगीनाली कालसी देहरादून की डिंपल तोमर ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। टीम प्रोजेक्ट में होलीविजडम स्कूल मानेश्वर चंपावत के लोकेश, ऋषित जोशी ने पहला स्थान प्राप्त किया। विज्ञान ड्रामा में जीआईसी कंवाएटहाली उत्तरकाशी की टीम ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। विज्ञान महोत्सव में व्यक्तिगत श्रेणी में डिंपल, टीम प्रोजेक्ट में लोकेश, ऋषित ने अव्वल रहे। विज्ञान ड्रामा में उत्तरकाशी की टीम ने बाजी मारी।

विजेता बाल-वैज्ञानिक राष्ट्रीय स्तर के विज्ञान महोत्सव में हिस्सा लेंगे

इस अवसर पर प्रधानाचार्य जगमोहन सिंह रावत ने बताया कि महोत्सव में प्रथम, द्वितीय और तृृतीय स्थान प्राप्त करने वाले बाल वैज्ञानिक राष्ट्रीय स्तर की विज्ञान महोत्सव में हिस्सा लेंगे। प्रधानाचार्य ने आयोजन को सफल बनाने में सहयोग करने के लिए सभी का आभार व्यक्त किया।

विजेताओं को सर्टिफिकेट और ट्रॉफी से सम्मानित किया गया 

विजेताओं को मुख्य अतिथि लैंसडौन विधायक दिलीप रावत और अकादमिक शोध एवं प्रशिक्षण उत्तराखंड की निदेशक सीमा जौनसारी ने पुरस्कृत किया। 

रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों से महोत्सव का समापन 

उत्तराखंड राज्य स्तरीय डॉ0 एपीजे अब्दुल कलाम राज्य विज्ञान, गणित एवं पर्यावरण महोत्सव 2019 के अंतिम दिन रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम रही। सम्मापन अवसर पर आर्यकन्या इंटर कालेज और जीजीआईसी कलालघाटी की छात्राओं ने आकर्षक सांस्कृतिक प्रस्तुति दी।


Please click to share News
admin

admin

Related News Stories