पूर्व मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी ने विधायकों को सौंपे एनसीसी अकादमी के दस्तावेज

पूर्व मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी ने विधायकों को सौंपे एनसीसी अकादमी के दस्तावेज
Please click to share News


  • पूर्व मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी ने विधायकों एवं मंत्रियों को सौंपे एनसीसी अकादमी के दस्तावेज सम्बन्धी ज्ञापन 
  • सरकार ने फैसला वापस नहीं लिया तो 17 दिसंबर से देवप्रयाग के हिंडोलाखाल से होगी सरकार की अर्थी यात्रा शुरू। 21दिसंबर को रिस्पना में जलेगी अर्थी।

नई टिहरी * गढ़ निनाद, 7 दिसंबर 2019

एनसीसी मामले को लेकर पूर्व मंत्री मंत्रीप्रसाद नैथानी के नेतृत्व में आज एक प्रतिनिधि मंडल ने देवप्रयाग के भाजपा विधायक विनोद कण्डारी समेत एक दर्जन से ज्यादा विधायकों व मंत्रियों को विकास खण्ड देवप्रयाग के माल्डा में स्वीकृत एनसीसी अकादमी से सम्बंधित दस्तावेज सौंपते हुए ज्ञापन दिया।

नैथानी ने कहा कि आज 7 दिसंबर को क्षेत्र के लोगों के साथ विधायक हास्टल में जाकर विधायकों को एनसीसी से संबंधित दस्तावेज सौंपें गये।

नैथाणी ने ऐलान किया है कि यदि प्रदेश सरकार ने 16 दिसंबर तक एनसीसी एकेडमी देवप्रयाग से हटाए जाने संबंधी अपना फैसला वापस न लिया तो 17 दिसंबर से देवप्रयाग के हिंडोलाखाल से सरकार की अर्थी यात्रा शुरू की जाएगी। यह अर्थी यात्रा देवप्रयाग विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत विभिन्न स्थानों पर घुमाई जाएगी और 21 दिसंबर को राजधानी देहरादून में रिस्पना नदी में सरकार की अर्थी जलाई जाएगी। 

पूर्व मंत्री के साथ गए प्रतिनिधि मंडल में प्रदेश प्रवक्ता संजय भट्ट, सचिव रेनु नेगी भी दस्तावेज सौंपने में शामिल रहे। प्रतिनिधि मंडल ने देवप्रयाग के विधायक विनोद कण्डारी के विधायक निवास हॉस्टल में जाकर दस्तावेज सौंपे। नैथानी ने बताया कि एनसीसी अकादमी से संबंधित पेपर विधायक डॉ0 प्रेम सिंह नानकमत्ता, महेंद्र भट्ट, सुरेंद्र सिंह नेगी, दीवान सिंह नेगी, मदन सिंह बिष्ट, नवीन चंद्र दुमका, मुन्नी देवी शाह  सभी बीजेपी विधायकों के अलावा गोविंद सिंह कुंजवाल व आदेश चौहान-कांग्रेस, निर्दलीय राम सिंह कैड़ा के साथ मंत्री रेखा आर्य को भी एनसीसी अकादमी देवप्रयाग के दस्तावेज़ सौंपे गए।

बताते चलें कि प्रदेश की पूर्ववर्ती हरीश रावत सरकार द्वारा देवप्रयाग विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत माल्डा श्रीकोट में एनसीसी एकेडमी खोले जाने की घोषणा की गई थी। सूबे के तत्कालीन शिक्षा मंत्री और देवप्रयाग क्षेत्र के विधायक मंत्री प्रसाद नैथाणी के अथाह प्रयासों से देवप्रयाग के लिए एनसीसी एकेडमी को स्वीकृति प्रदान की गई और इसके लिए तत्कालीन सरकार द्वारा बजट की भी व्यवस्था कर दी गई थी।

एनसीसी एकेडमी के लिए बजट में तीन चरणों में 29,32,000 रूपये प्रस्तावित किए गए थे, लेकिन मौजूदा सरकार द्वारा यह कहते हुए कि इसका शासनादेश जारी नहीं हुआ है एनसीसी एकेडमी को वहां से पौड़ी स्थानांतरित कर दिया गया। इससे देवप्रयाग क्षेत्र की जनता पिछले कई दिनों से आंदोलित है। अभी भी विकास खण्ड मुख्यालय में धरना प्रदर्शन जारी है।


Please click to share News
admin

admin

Related News Stories