एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू कर बचाए लापता छात्र: एक कि मौत

एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू कर बचाए लापता छात्र: एक कि मौत
एसडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू कर बचाए लापता छात्र
Please click to share News


गढ़ निनाद समाचार, 11 जनवरी 2020

उत्तरकाशी: विगत दिवस भारी बर्फबारी के कारण राड़ी टॉप के जंगलों में रास्ता भटके सात छात्रों में से एक की ठंड के कारण मौत हो गयी है । बीती रात एसडीआरएफ की टीम ने छात्रों को रेस्क्यू किया। आईटीआई बड़कोट के इन सात छात्रों में से एक छात्र अनुज सेमवाल (18) पुत्र उमाशंकर निवासी धौंतरी, हाल निवास ज्ञानसू उत्तरकाशी ने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया था। अन्य सभी छात्रों को प्राथमिक उपचार के बाद सकुशल आईटीआई प्रशासन को सौंप दिया है।

शुक्रवार को यमुनोत्री हाईवे पर भारी बर्फ जमा होने और पाले के कारण वाहनों की आवाजाही ठप हो गई थी। जिसके चलते आईटीआई बड़कोट के इन सात छात्रों ने पैदल ही बड़कोट से उत्तरकाशी जाने का निर्णय लिया था। छात्र राड़ी टॉप के जंगलों में अंधेरा और भारी बर्फ जमा होने के कारण रास्ता भटक गए थे। इस बीच अत्यधिक ठंड व थकान के कारण एक छात्र अनुज सेमवाल की तबियत भी बिगड़ गई। जिसके बाद उसके साथियों ने मोबाइल फोन से अपने परिजनों को फोन करके मदद की गुहार लगाई, जिसकी सूचना मिलते ही एसडीआरएफ व पुलिस की टीम उनकी खोज बचाव के लिए रवाना हुई। एसडीआरएफ के जवानों ने इन छात्रों को जंगल से रेस्क्यू कर 108 आपात एंबुलेंस की मदद से देर रात करीब दो बजे बड़कोट स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने ठंड से बीमार हुए अनुज सेमवाल को मृत घोषित कर दिया।

अन्य छात्रों को प्राथमिक उपचार के बाद शनिवार को आईटीआई प्रबंधन के सुपुर्द कर दिया गया। एसओ बड़कोट दिग्पाल कोहली ने बताया कि सभी छात्रों को देर रात रेस्क्यू कर अस्पताल पहुंचा दिया गया था, लेकिन ठंड से बीमार हुए छात्र ने अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया। बाकी सभी छात्र सकुशल हैं और उन्हें आईटीआई प्रबंधन के सुपुर्द कर दिया गया है। वहीं आईटीआई के प्राचार्य निरंजन कुकशाल ने कहा कि सभी छात्रों को बर्फ में सफर नहीं करने की सलाह दी गई थी, लेकिन सभी अवकाश लेकर अपने घर जाने के लिए निकल पड़े।


Please click to share News
admin

admin

Related News Stories